This website is in read only mode. To be the part of New YoAlfaaz community, click the button.
+4 votes
42 views
shared in Song by


इन दिलो में आग है जो

बारिशो से उन्हें बुझा दो न

ज़िन्दगी में मायूसी की

जो हवा है उसे उड़ा दो न

जाने फिर कब कहाँ ऐसी जन्नत मिले

आजा अपनी ही जन्नत चले

जाने फिर कब कहाँ ऐसी फुर्सत मिले

आजा दो घूँट तू भी तो ले

हम्म...हम्म... हम्म.. हम्म..

इन दिलो में आग है जो

बारिशो से उसे बुझा दे

ज़िन्दगी में मायूसी की

जो हवा है उसे उड़ा दे

ज़िन्दगी में जो नशा है जो मज़ा है

कहीं नहीं है

क्या सोचता है खोजता है

सब यहीं है '

ज़िन्दगी में जो जलन है जो चुभन है

सब हटा दे

टूटे दिले का जाम है ये

आजा तू भी लब मिला ले

तिनका तिनका ज़िन्दगी है

तिनका तिनका मौत भी है

है नशा ही दरमियान क्यूँ

आँख में जब भी नमी है

तो फिर क्यूँ ये नशा मेरे दिल में बसे

क्यूँ ये आँखों से मेरी बहे

मेरे दिल में है क्या

कैसी तकलीफ है

खली बोतल से  क्यूँ ये कहे

हम्म.. हम्म...हम्म..हम्म..

तिनका तिनका ज़िंदगी है

तिनका तिनका मौत भी है

है नशा ही दरमियान क्यूँ

आँख में जब भी नमी है

हूँ परेशां है उदासी

दिल में कोई तो कमी है

सोचता हूँ खोजता हूँ

जाम ही क्या ज़िन्दगी है

है नशा क्या क्यूँ ज़रूरी

क्या है रिश्ता ज़िन्दगी से

ज़िन्दगी मेरी अमानत

है नशा किसकी ज़रूरत....
commented by
very well penned...
commented by
thank you very much

Related posts

+3 votes
0 replies 54 views
+5 votes
0 replies 111 views
+3 votes
0 replies 26 views
+4 votes
0 replies 22 views
+3 votes
0 replies 24 views
+3 votes
0 replies 23 views
+4 votes
0 replies 29 views
+3 votes
0 replies 22 views
+4 votes
0 replies 26 views
+4 votes
0 replies 22 views
Connect with us:
...