This website is in read only mode. To be the part of New YoAlfaaz community, click the button.
+5 votes
67 views
shared in Nazm by
edited by
Ardaas (Prayer to God)

Mere Khamosh dard ko zubaan mile
Dil ki umangon ko asmaan mile
Kyu firun dar b dar do ghaz jameen ki khatir
Jise "TU" mil jaye us'e jahaan mile

Kisne dekha hai tujhe ya Rabb
Isliye ibadat karta hu Har seh ki
Na Jane tu kab, kaise aur kaha mile

Kehte hai tu aaya tha kabhi zameen par
Diya leke dhundhta hu syah raaton me
Jane kis rah tere paon ke nishan mile

Wese to hu main aadam ke zamaane SE
Jaan baki nahi magar murda sanson me
Khudaya deedar ho tera to jism ko jaan mile

Barson zameen SE lipat ke roya hu
Tarakki kise nahi pyari jahaan me
Rabba abb to mujhe Sone ko asmaan mile

Zindagi SE tangg hu par Marne ka shok nahi
Magar sab kaam nipta ke chalta hu main
Khudaya kab jahaan chhodne ka farmaan mile

Ek daur tha jab tere dar PE Roz aata tha
Aaj ek arse baad fir lauta hu main
Shayad yahi mera khoya Hua imaan mile


मेरे ख़ामोश दर्द को ज़ुबान मिले
दिल की उमंगों को आसमान मिले
क्यूं फिरूं दर-ब-दर दो ग़ज़ ज़मीन की ख़ातिर
जिसे "तू" मिल जाये उसे जहान मिले

किसने देखा है तुझे या रब
इसलिये इबादत करता हूं हर शय की
ना जाने तू कब, कैसे और कहां मिले

कहते हैं तू आया था कभी ज़मीन पर
दिया लेके ढूंढता हूं स्याह रातों में
जाने किस राह तेरे पांव के निशान मिलें

वैसे तो हूं मैं आदम के ज़माने से
जान बाकी नहीं मगर अब मुर्दा सांसों में
शायद दीदार हो तेरा तो जिस्म को जान मिले

बरसों ज़मीन से लिपट कर रोया हूं
किसे तरक्की प्यारी नहीं जहान में
रब्बा अब तो मुझको सोने को आसमान मिले

जिन्दगी से तंग हूं पर मरने का शौक नही
सब काम निपटा के चलता हूं मैं
ख़ुदाया कब जहान छोडने का फ़रमान मिले

एक दौर था जब तेरे दर पे रोज़ आता था
आज एक अरसे बाद फिर लौटा हूं मैं
शायद यहीं मेरा ख़ोया हुआ ईमान मिले
commented by
Thank u..bro
commented by
एक दौर था जब खुदा का नूर थे
आज ये माहोल की अगले का सिर्फ दस्तूर है
बहुत ही प्यारा लिखा है !!!
commented by
Main bhi tera noor hu
Ye mana tujhse door hu
Tere Dil me ek kona chahta hu
Ya KHUDA main teri Go'd me sona chahta hu
commented by
one of the best on YoAlfaaz :)
commented by
Oh ! Is it...? I m glad that u feel so....

In return I'll say,

O Priya...
O Priya..
Meri write ups ko pasand kiya...
Tera lakh lakh shukriya...:):):)
commented by
superb lines @Anshul Sharma

Related posts

+2 votes
0 replies 25 views
+10 votes
0 replies 211 views
shared Jun 3, 2016 in Poem by tOmSoN
+6 votes
0 replies 207 views
+4 votes
0 replies 19 views
+4 votes
0 replies 27 views
+5 votes
0 replies 34 views
shared Aug 5, 2015 by Sam
Connect with us:
...