This website is in read only mode. To be the part of New YoAlfaaz community, click the button.
+4 votes
277 views
shared in Short Story by



रिया , तुम मेरा ख्वाब हो, और हम कभी एक नहीं हो सकते। बस इससे ज्यादा में और कुछ नहीं कह सकता। में इस कहानी को यही ख़तम करता हु…

नहीं, प्लीज नितिन। मुझे छोड़के मत जावो। सिर्फ एक बार कह दो की तुम भी मुझसे प्यार करते हो….(रिया ने कहा…)

============================The End===============================

अरे! यार.. ये कहानी तो अच्छी है, लेकिन अधूरी है. फिर क्या हुआ, फिर तूने उसे कहा क्यों नहीं की तुम भी उससे प्यार करते हो? (वत्सल ने कहा)

अगर में उसे कह देता की में भी तुमसे बहोत प्यार करता हु, तो मेरे लिए उसका प्यार और बढ़ जाता, और सायद मुझे भी प्यार हो जाता.

 और फिर यह कहानी कभी ख़तम ही नहीं होती। तो मेने इस कहानी को वही ख़तम कर दी. आगे कुछ लिखा ही नहीं.....

ओह्ह, पर अगर मेने इस कहानी की शोर्ट फिल्म बनायीं तो लोगो को ये अच्छी लगेगी की नहीं ? तू एक काम कर ये कहानी yoalfaaz.com पर पब्लिश कर दे, देखते है अगर १०० से अधिक लोग इसे सोसियल वेबसाइट्स पर शेर करते है, तो में इसी कहानी पर एक शोर्ट फिल्म बनावुंगा। (वत्सल ने कहा).

commented by
wow....such a beautiful story....though, it's about incomplete love....but still, you have managed to come out with it really well Nitin :)

Welcome to YoAlfaaz :)
commented by
Thank You :)
commented by
superb post... enjoyed every part of the story...
commented by
Thank you, bro. :)

Related posts

+4 votes
0 replies 37 views
+3 votes
0 replies 36 views
+7 votes
0 replies 205 views
Connect with us:
...